Breaking News

मौलवी बाकिर,आज़ादी की लड़ाई का एक गुमनाम सिपाही जिसे तोप से उड़ाया गया था

एक नई रोशनी जो हमेशा जगमगाती रहेगी खींचो न कमानो को, न तलवार निकालो, जब तोप हो मुक़ाबिल तो अख़बार निकालो ! अकबर इलाहाबादी ने तो‌ यह शे’र बहुत बाद में लिखा था, लेकिन दिल्ली के ही एक स्वतंत्रता सेनानी मोहम्मद बाक़ीर अली ने तो उससे भी बहुत पहले इसे Continue Reading

माँ तो माँ होती है, तेंदुए के जबड़े से खींच लाई अपनी बच्ची को

बहराइच। कतर्नियाघाट के जंगल मे बने एक घर के आंगन में खेल रही बच्ची को जब दबे पांव घुसे तेंदुए ने निवाला बनाना चाहा तो बच्ची की माँ की ममता के आगे घुटने टेक भाग खड़ा हुआ। घटना कतर्नियाघाट के सुजौली रेंज अंतर्गत रामपुरवा बनकटी गाँव की है। जंगल मे Continue Reading

शिक्षक दिवस पर विशेष, शिक्षा का अधिकार और हमारी शिक्षा व्यवस्था

शिक्षक दिवस — ऐतिहासिक त्रासदी भारतीय शिक्षा व्यवस्था की   सबको समान शिक्षा का अधिकार हो  भारतीय शिक्षा व्यवस्था की त्रासदी की चर्चा आमतौर पर ब्रिटिश इंडिया कम्पनी के शासन काल में लागू की गयी मैकाले की शिक्षा नीति के साथ की जाती है | एक हद तक यह बात ठीक Continue Reading

बहराइच जिले में दबंगई की हद पार, शमशान पर किया कब्ज़ा, शव रख लोगों ने न्याय की गुहार लगाई

बहराइच। एक गाँव मे शमशान घाट की जमीन कब्ज़ाने का मामला सामने आया है।  रामगांव क्षेत्र के  सोहरवा ग्राम सभा वासियों का आरोप है कि इनका शमशान घाट गाँव के एक दबंग परिवृत्ति के व्यक्ति हरिकेश सिंह ने कब्ज़ा कर लिया है। गाँव वालों का ये भी आरोप है कि Continue Reading

करबला में इमाम हुसैन की शहादत का उद्देश्य, मुहर्रम पर विशेष

कर्बला की फ़ज़ीलत कोई क्या बयां करेगा जैसा की हिंदुस्तान के मक़बूल शायर मुनौवर राना ने कहा है कि -ये कर्बला की ज़मीन है इसे सलाम करो यहाँ से पत्थर भी नम  निकलते हैं .. कर्बला की जंग इस बात का उदाहरण है कि हक़ के लिए खड़ा होने वाला Continue Reading

बहराइच में आज सुबह सुबह हुआ भयानक हादसा, जनिये पूरी घटना

बहराइच। आज सुबह लगभग 5 बजे बिहार से मज़दूरों को ले कर आ रही फ़ोर्स जीप एक खड़े ट्रक से टकरा गई। ये दुर्घटना पयागपुर थाना क्षेत्र के सुकाईपुर चौराहे के पास हुई।हादसा इतना भीषण था कि जीप के परखच्चे उड़ गए ।इसमें सवार सभी मजदूर थे जो बिहार से Continue Reading

भूख के विरुद्ध भात के लिए, रात के विरुद्ध प्रात के लिए– शैलेंद्र

भूख के विरुद्ध भात के लिए ,रात के विरुद्ध प्रात के लिए ——— शैलेन्द्र    स्मृतियों के पन्ने — दर — पन्ने खुलते रहे और भारतीय हिन्दी साहित्य के साथ ही गीत , कविता ने प्रखर विद्रोही स्वर को स्थापित किया | उसी कड़ी में एक ऐसा कविता का चितेरा Continue Reading

कोरोना संक्रमित डॉक्टर की अर्थी उठाने कोई नही आया तो मुस्लिमों ने दिया काँधा।

पुणे। मानवता की मिसाल पेश करते हुए मुस्लिम समाज और तब्लीगी जमात के लोगों ने कोरोना से हुई एक डॉक्टर की मौत के बाद शव को शमशान तक पहुंचाया। पुणे में आज MBBS डॉ. रमाकांत जोशीजी की  कोरोना से मृत्यु हो गई। उनका एक लड़का है, लेकिन वह अमेरिका में Continue Reading

एक ऐसा शासक जिसके सामने हर बार अंग्रेजों ने टेके थे घुटने

ऐसा भारतीय शासक जिसने अकेले दम पर अंग्रेजो को नाको -चने -चबाने पर मजबूर कर दिया था |इकलौता ऐसा शासक जिसका खौफ अंग्रेजो में साफ़ -साफ़ दिखता था |एकमात्र ऐसा शासक जिसके साथ अंग्रेज हर हाल में बिना शर्त समझौता करने को तैयार थे |एक ऐसा शासक ,जिसे अपनों ने Continue Reading

अहिंसा का देवदूत….. बादशाह खान

वास्तव में अफगानिस्तान की सीमा से लगे अविभाजित भारत के सीमांत प्रांत में बादशाह खान उनके द्वारा बनाई गयी खुदाई खिदमतगार सगठन ने जो उपलब्द्धि हासिल किया था वह देश ही नही पूरी दुनिया के लिए एक बड़ी मिशाल थी आज इतना लम्बा समय बीतने के बाद भी यह प्रेरणा Continue Reading